इन चीजों का सेवन करने से रोग प्रतिरोधक क्षमता होगी मजबूत व रहेंगें स्‍वस्‍थ्‍य

आज का वर्तमान समय कोरोना वायरस व प्रदूषण से भरा हुआ है इस वातावरण में स्‍वस्‍थ्‍य रहना एक चुनौती जैसा हो गया है । बीमारियों से बचने के लिए हमारें शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता का मजबूत होना बहूत जरूरी है अगर हमारें शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता अगर मजबूत होगी तो कम बीमार होंगें । कमजोर रोग प्रतिरोधक क्षमता वाले व्यक्तियों को कोई भी बीमारी आसानी से अपना शिकार बना सकती है इसलिए बहुत जरूरी है इम्यून सिस्टम को दुरुस्त रखना। इम्यूनिटी बढ़ाने का सबसे पहला स्टेप है शरीर को जरूरी मात्रा में न्यूट्रिशन प्रदान करना, जो फल, सब्जियों और साबुत अनाज से आसानी से प्राप्त किया जा सकता है। इसके अलावा इन चीज़ों से भी कर सकते हैं इम्यून को बूस्ट।

1. संक्रामक रोगों से सुरक्षा के लिए विटामिन सी का सेवन करना बहुत फायदेमेंद होता है। कीवी में विटामिन सी, ए और फॉलेट पाया जाता है। विटामिन सी इंफेक्शन से लड़ने वाले व्हाइट ब्लड सेल्स में वृद्धि करता है। नींबू और आंवले में पर्याप्त मात्रा में विटामिन सी पाया जाता है, जो रोग प्रतिरोधक क्षमता को दुरुस्त रखने में मददगार होता है। संतरा और मौसमी जैसे सिट्रस फलों में भरपूर मात्रा में खनिज लवण और विटामिन सी होता है। ताजे फलों के जूस में चीनी या नमक न मिलाएं।

2. लहसुन खाना भी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बूस्ट करने में सहायक होता है। इसमें पर्याप्त मात्रा में एलिसिन,जिंक, सल्फर, सेलेनियम और विटामिन ए और ई पाए जाते हैं।

3. भोजन के साथ सैलेड जरूर परोसें। ककड़ी, टमाटर, मूली, गाजर, पत्तागोभी, प्याज, चुकंदर प्रमुखता से शामिल करें। सैलेड में ऊपर से नमक न डालें।

4. ओट्स में पर्याप्त मात्रा में फाइबर्स पाए जाते हैं। साथ ही इसमें एंटी-माइक्रोबियल गुण भी होते हैं। रोज़ाना ओट्स का सेवन करने से इम्यून सिस्टम मजबूत होता है।

5. ग्रीन टी और ब्लैक टी, दोनों ही इम्यून सिस्टम के लिए फायदेमंद होती हैं लेकिन एक दिन में इनके एक से दो कप ही पिएं। ज्यादा मात्रा में सेवन से नुकसान हो सकता है।

6. अंकुरित अनाज (जैसे मूंग, मोठ, चना आदि) और भीगी हुई दालों का भरपूर मात्रा में सेवन करें। अनाज को अंकुरित करने से उनमें उपस्थित पोषक तत्वों की क्षमता बढ़ जाती है। यह पचाने में आसान, पौष्टिक और स्वादिष्ट होते हैं। गेहूं, ज्वार, मक्का जैसे अनाज का सेवन चोकर सहित करें। इससे कब्ज नहीं होगी और प्रतिरोधक क्षमता सही रहेगी।

7. तुलसी एंटीबायोटिक, दर्द निवारक और रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में फायदेमंद है। रोज सुबह तुलसी के 3-5 पत्तों का सेवन करें।

8. खांसी, गले में खराश और सूजन वाली बीमारियों से लड़ने में अदरक प्रभावी माना जाता है। यह कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करती है। हल्दी का सेवन करें। यह एंटीऑक्सीडेंट में समृद्ध होती है। ड्राईफ्रूट्स का सेवन करें जैसे- बादाम। आंवला खाएं। पालक और शिमला मिर्च लें। रसदार फलों का सेवन जरूर करें।

नोट– उपरोक्‍त दी गई जानकारी व सुझाव सामान्‍य जानकारी के लिए हैं इन्‍हें किसी प्रोफेशनल डॉक्‍टर की सलाह के रूप में न समझें । कोई भी बीमारी या संक्रमण की स्थिति हो तो डॉक्‍टर की सलाह जरूर लें ।

Agniban

Next Post

OnePlus 9 Pro की इस आकर्षक डिजाईन के साथ आगामी समय में हो सकता है लांच

Thu Nov 26 , 2020
चीन की स्मार्टफोन निर्माता कंपनी OnePlus पिछलें समय में नये स्‍मार्टफोन OnePlus 8 को शानदार फीचर्स के साथ लांच किया था । अब चीनी स्‍मार्टफोन निर्माता कंपनी OnePlus के नये लेटेस्ट हैंडसेट OnePlus 9 Pro को ग्लोबली लॉन्च करने की योजना बना रही है व जल्‍द ही इस स्‍मार्टफोन को […]

Know and join us

news.agniban.com

month wise news

January 2021
S M T W T F S
 12
3456789
10111213141516
17181920212223
24252627282930
31