ग्‍लोबल वार्मिंग से निपटने के लिए न्‍यूजीलैंड में होने वाला है क्‍लाइमेट इमरजेंसी

ऑकलैंड। ग्‍लोबल वॉर्मिंग से निपटने के लिए न्‍यूजीलैंड के पीएम जैकिंडा अर्डर्न ने बड़ा फैसला लिया है। अर्डर्न सरकार ने क्‍लाइमेट इमरजेंसी करने का ऐलान किया है। सरकार अगले बुधवार को वहां के संसद में आपातकाल घोषित करने के लिए प्रस्‍ताव पारित करने वाली है। न्यूजीलैंड राज्य प्रसारक टीवीएनजेड के अनुसार पीएम अर्डर्न का कहा है कि हमने हमेशा जलवायु परिवर्तन को एक बड़ा खतरा माना है, और यह कुछ ऐसा है जिस पर हमें तत्काल कार्रवाई करनी चाहिए। उन्‍होंने कहा कि दुर्भाग्य से, हम पिछले कार्यकाल में संसद में जलवायु आपातकाल के आसपास एक गति को प्रगति करने में असमर्थ थे, लेकिन अब हम कर रहे हैं। उन्‍होंने कहा कि जीत हासिल करने के बाद हमारी पार्टी के लिए सबसे बड़ी चुनौती कोरोना वायरस से निपटना था। हम उससे पार आए और इसके लिए हमें पुरस्‍कृत भी किया गया। दिसंबर 2016 को ऑस्ट्रेलिया के मेलबर्न में डेयरबिन शहर में आपातकाल लागू किया गया। एक मई 2019 को ब्रिटेन की संसद ने जलवायु आपातकाल घोषित किया। इस देश के एक दर्जन से अधिक शहर और कस्बे ऐसा पहले ही कर चुके हैं। जून 2019 में पोप फ्रांसिस ने वेटिकन सिटी में इमरजेंसी आपातकाल घोषित किया। आयरलैंड, पुर्तगाल, कनाडा, फ्रांस, अर्जेंटीना, स्पेन, आस्ट्रिया सहित कई देशों ने ऐसा उपबंध लागू कर दिया है। अक्टूबर, 2019 तक दुनिया के 1143 ऐसे प्रशासन प्रणाली या स्थानीय सरकारें हैं जिन्होंने जलवायु आपातकाल को कालू कर दिया है।

न्यूजीलैंड में 25 नवंबर को दोपहर में 100 व्हेल और डॉलफिंस मृत मिलीं। ये समुद्री जीव न्यूजीलैंड के पूर्वी तटे 800 किलोमीटर दूर चाथम द्वीप के तट पर दिखाई पड़ी। ऐसा लगता है कि इनमें से ज्यादातर मछलियां रविवार को तट पर आकर फंस गईं थीं। चाथम द्वीप से जानकारी मिलने में देरी हुई और उन्हें बचाने की कवायद शुरू करने से पहले इनकी मौत हो गई। न्यूजीलैंड के कंजरवेशन विभाग ने बताया कि कुल 97 पायलट व्हेल और बॉटलनोज डॉलफिंस मृत पाई गई हैं। कंजरवेशन विभाग की रेंजर जेमा वेल्श ने बताया कि चाथम द्वीप की दूर है। साथ ही यहां पर बिजली का आना-जाना लगा रहता है। इसिलए सही समय पर सूचना नहीं मिली। रेंजर्स और बचावकर्मी कई घंटे बाद मौके पर वैतांगी वेस्ट बीच पहुंचे, जहां मछलियां मरी पड़ी थीं।

Next Post

26/11 हमलों के 12 साल बाद भी पाकिस्तान लश्कर के 19 आतंकियों को पकड़ने में नाकाम

Fri Nov 27 , 2020
मुंबई में हुए 26/11 हमलों के 12 वर्षों बाद, पाकिस्तान ने प्रतिबंधित लश्कर-ए-तैयबा के 19 आतंकवादियों को इस वारदात को अंजाम देने के लिए “सर्वाधिक वांछित आतंकवादियों” की सूची में रखा तो जरूर लेकिन उन्हें पकड़ने के लिए उसने कोई गंभीर प्रयास नहीं किए और न ही उन सात आतंकियों […]

Know and join us

news.agniban.com

month wise news

January 2021
S M T W T F S
 12
3456789
10111213141516
17181920212223
24252627282930
31