मनोरंजन

फिल्म 83 में रणवीर सिंह को अपना किरदार निभाता देख डर गए थे कपिल देव, खोले कई राज

मुंबई: भारतीय टीम के पूर्व कप्तान कपिल देव (Kapil Dev) ने साल 1983 में देश को पहला विश्व कप दिलाया और इसी ऐतिहासिक पल को बड़े पर्दे पर दिखाने के लिए तैयारियां चल रही है.इस फिल्म का नाम होगा ’83’ और इसमें कपिल देव का किरदार रणवीर सिंह (Ranveer Singh) और रोमी का किरदार दीपिका पादुकोण (Deepika Padukone) करती दिखेंगी. कपिल देव ने बताया है कि वह शुरुआत में फिल्म ’83’ बनाने के पक्ष में नहीं थे. उन्होंने कहा कि जब उन्हें पता चला कि दीपिका पादुकोण और रणवीर सिंह बड़े पर्दे पर उनके जीवन की कहानी का किरदार निभाएंगे तो वह डर गए थे. एक्ट्रेस और टॉक शो होस्ट नेहा धूपिया के शो ‘नो फिल्टर नेहा’ में कपिल मेहमान बनकर आए थे और इस दौरान उनसे कई सवाल पूछे गए, जिनका कि कपिल ने बड़ी सहजता के साथ जवाब दिया.

यह पूछे जाने पर कि जब उनकी पत्नी रोमी को इस बारे में पता चला तो उनका क्या कहना था, इस पर कपिल देव ने कहा, ‘मैं थोड़ा डरा हुआ था. मुझे लगा कि वह एक एक्टर है. आप किसी खेल और एथलेटिक्स की नकल कर रहे हैं. क्या उनके पास इतना ही है? लेकिन, जब मैंने उनके साथ समय बिताया, तो मैं हैरान था कि उन्होंने इस पर कितना समय लगाया है. पिछले साल जून और जुलाई में, उन्होंने करीब आठ घंटे क्रिकेट के मैदान पर बिताए थे और मुझे डर लगता था. मैं कहना चाहूंगा कि वह 20 साल का नहीं है और उन्हें चोटिल नहीं होना चाहिए. मुझे उनकी चिंता थी. मुझे लगता है कि जहां कलाकार और अभिनेता एकसाथ सामने आते हैं, तो उन्हें पता होता है कि उन्हें क्या करना है और कैसे करना है’.

उन्होंने कहा, ‘वह सात या आठ दिनों के लिए मेरे साथ थे. इस दौरान उन्होंने मेरे सामने (रिकॉर्ड करने के लिए) कैमरा रखा और मुझसे पूछा कि मैं कैसे बात करता हूं, क्या करता हूं और कैसे खाता हूं। मुझे लगता है कि वे शानदार हैं’. यह पूछे जाने पर कि क्या रणवीर ने क्लासिक नटराज शॉट किया है, कपिल ने कहा, ‘मुझे लगता है कि उन्होंने बहुत मेहनत की है. मुझे अब देखना होगा. मैंने तस्वीरों और अन्य चीजों के बारे में बहुत कुछ देखा है. ये कैमरामैन और ये लोग अच्छे हैं. मैं उनसे बहुत दूर था. हमने कहानी का अपना पक्ष दिया और कुछ नहीं’. उन्होंने कहा, ‘अपने जीवन के दौरान, वे आप पर एक फिल्म बनाते हैं और आपको पता नहीं होता है कि इस पर कैसे प्रतिक्रिया करें. मुझे लगा कि हम अभी भी काफी युवा हैं और कहते हैं ‘यार, यह क्या हो रहा है. लेकिन जब पूरी टीम ने फैसला किया, तो मैं भी उसी का हिस्सा था. मेरी पहली प्रतिक्रिया थी, ‘क्या हम इंतजार कर सकते हैं? हम बहुत छोटे हैं और हर किसी ने हमें देखा है, चलो इसे नहीं बनाते हैं’

Next Post

शादी के समारोह पर भी लगी पाबंदिया, लेनी होगी परमिशन

Sat Nov 21 , 2020
इंदौर। आज मीटिंग में यह यह निर्णय लिया गया कि हॉल में शादी होती है तो उसने 100 लोगों की परमिशन एवं ओपन ग्राउंड में 200 लोगों की परमिशन एसडीएम एवं थाना प्रभारी से लेना आवश्यक रहेगा। टेंट एवं कैटरिंग व्यवसाय करने वाले को रात्रि में कार्य करने ट्रांसपोर्टिंग करने हेतु छूट दी जा रही […]