मध्य प्रदेश सरकार 11 अगस्त को आरबीआई के माध्यम से खुले बाजार से 1000 करोड़ का कर्ज लेगी


भोपाल । मध्य प्रदेश की माली हालत पहले ही खस्ता थी, अब कोरोना के कारण राज्य में आर्थिक संकट और गहरा गया है. बीते 23 मार्च को चौथी बार मध्य प्रदेश की सत्ता संभालने वाले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान 5 महीने के कार्यकाल में 6000 करोड़ रुपए का कर्ज ले चुके हैं. शिवराज सरकार खुले बाजार से एक बार फिर 1000 करोड़ रुपए का कर्ज उठाने की तैयारी में है. इसके लिए राजपत्र भी प्रकाशित किया जा चुका है.

राजपत्र के मुताबिक मध्य प्रदेश सरकार आगामी 11 अगस्त को आरबीआई के माध्यम से खुले बाजार से 1000 करोड़ का कर्ज उठाएगी. कर्ज लेने से पहले सरकार ने 31 मार्च 2019 तक अपनी वित्तीय स्थिति का ब्यौरा आरबीआई को दे दिया है. इस ब्यौरे में बताया गया है कि मध्य प्रदेश सरकार पर कर्ज लेने की तिथि तक 1 लाख 80 हजार 988 करोड़ रुपए का कर्ज है.

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपने 5 महीने के कार्यकाल में हर माह औसतन 1200 करोड़ रुपए का कर्ज बाजार से लिया है. कोरोना महामारी के कारण बीते चार महीने में जीएसटी से राज्य सरकार को होने वाली आय में 44 फीसदी की गिरावट आई है. सरकारी खजाने को करीब 3077 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है. जीएसटी कलेक्शन के अलावा कोरोना महामारी से पेट्रोल-डीजल, आबकारी और खनिज विभाग की कर वसूली भी प्रभावित हुई है.

agniban

Next Post

आज मध्य प्रदेश में थम गए सात लाख वाणिज्यिक वाहनों के चक्के

Mon Aug 10 , 2020
भोपाल । ट्रांसपोर्टरों के एक प्रमुख संगठन ने मध्यप्रदेश में सोमवार से तीन दिन की हड़ताल आज से शुरू कर दी है। संगठन, ट्रांसपोर्ट कारोबार पर कोविड-19 की मार का हवाला देते हुए डीजल पर मूल्य संवर्धित कर वैट) में कमी के साथ पथ कर रोड टैक्स) और वस्तु एवं […]

Know and join us

news.agniban.com

month wise news

January 2021
S M T W T F S
 12
3456789
10111213141516
17181920212223
24252627282930
31