ममता बनर्जी ने कहा- बंगाल में बाहरियों के लिए कोई जगह नहीं जो चुनाव के दौरान हिंसा भड़काने आते हैं

कोलकाता। पश्चिम बंगाल में 2021 में विधान सभा चुना होने है। जिसको लेकर अब बंगाल में राजनीति तेज हो गई है। सीएम ममता बनर्जी से बंगाल की सत्‍ता हथियाने के लिए भारतीय जनता पार्टी और उसके चाणक्‍य अमित शाह अभी से चुनावी बिसात बिछाना शुरू कर चुके हैं, लेकिन ममता दीदी को भाजपा के बंगाल में इस तेवर को देखकर खतरा अभी से महसूस हो रहा है। यहीं कारण है कि तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो ममता बनर्जी भाजपा पर लगातार पलटवार कर रही हैं। गुरुवार को एक बार फिर मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी ने अमित शाह और भाजपा पर हमला बोला है।

पश्चिम बंगाल के मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा बंगाल में बाहरी लोगों के लिए कोई जगह नहीं है जो केवल हिंसा भड़काने के लिए चुनाव के दौरान आते हैं। उन्‍होंने कहा मैंने कभी केंद्रीय गृह मंत्री को यहां नहीं देखा था जो नगरपालिका की बैठकों में भाग ले रहे हैं, इससे पहले किसी के निवास पर भोजन करते समय तस्वीरें वाते भी नहीं देखा। उन्‍होंने कहा बेरोजगारी में वृद्धि हुई है, अर्थव्यवस्था खराब स्थिति में है और सीमाओं पर समस्याएं हैं, और वह ऐसी बातें कर रहे है। उन्‍होंने कहा बाहरी यानी दूसरे प्रदेशों के भाजपा नेताओं को राज्य में संगठनात्मक जिम्मेदारियां दी जा रही हैं। ऐसे लोगों के लिए प्रदेश में कोई जगह नहीं है। ममता ने कहा कि मैं किसी भी हालत में बंगाल को ‘गुजरात’ बनाने की इजाजत नहीं दूंगी क्योंकि ऐसे लोग प्रदेश की शांति और सौहार्द को बिगाड़ने की कोशिश करते हैं।

बता दें अभी कुछ दिनों पूर्व गृह मंत्री अमित शाह पश्चिम बंगाल के गांव में दलित भाजपा नेता के घर में जाकर भोजन किया था। इसके अलावा लगातार बंगाल चुनाव के मद्देनजर भाजपा को जमीनी स्‍तर पर मजबूत करने के लिए लगातार बैठकें करने के अलावा बंगाल का दौरा भी कर रहे हैं। अमित शाह और भाजपा के नेता इस बार ममता दीदी के गढ़ को हथियाने के लिए लगातार प्रयास कर रहे हैं। हालांकि पश्चिम बंगाल में अगले साल अप्रैल-मई के महीने में चुनाव होने हैं परंतु भाजपा और टीएमसी नेताओं के बीच जुबानी जंग अभी से आरंभ हो चुकी है। बुधवार 25 नवंबर को ममता बनर्जी ने भाजपा बड़ी चुनौती दी कि अगर भाजपा में हिम्मत है तो उन्हें गिरफ्तार करके दिखाए, वो जेल के अंदर से भी अपनी पार्टी को जीत दिला देंगी।

Next Post

मप्र कर बकाया समाधान योजनाः अब तक 115 करोड़ 30 लाख की राशि शासकीय कोष में जमा

Fri Nov 27 , 2020
भोपाल। मध्यप्रदेश में लागू कर बकाया समाधान योजना के पहले चरण में 115 करोड़ 30 लाख रुपये की राशि शासकीय कोष में जमा हुई है। यह जानकारी जनसम्पर्क अधिकारी नीरज शर्मा ने दी। उन्होंने बताया कि वाणिज्यिक कर विभाग द्वारा प्रशासित वेट एवं अन्य पूर्व अधिनियमों के अन्तर्गत लंबित बकाया […]

Know and join us

news.agniban.com

month wise news

January 2021
S M T W T F S
 12
3456789
10111213141516
17181920212223
24252627282930
31