टीवी सीरियल ‘बेगम जान’ बना लव जिहाद का केंद्र, प्रसारण पर लगी रोक


गुवाहाटी । कट्टरपंथी मुस्लिम संगठन इन दिनों लव जिहाद के नाम पर सुनियोजित साजिश रच रहे हैं, इसके लिए बाकयदा फंडिंग की जा रही है। मुस्लिम युवकों को ट्रेनिंग दी जा रही है । देश में कई जगहों पर लव जिहाद कैंप चलाए जा रहे हैं. इस बात का खुलासा देश के कई राज्‍यों में अनेक बार सामने आ चुका है। इस बारे में जानकारी यहां तक निकलकर सामने आ रही है कि ‘लव जिहाद’ के लिए मुस्लिम संगठन फिल्मों और सीरियलों में भी भारी फंडिंग कर रहे हैं. ऐसे ही एक सीरियल पर असम सरकार ने कार्रवाई की है ।

हिंदूवादी संगठनों द्वारा लव जिहाद को बढ़ावा देने के आरोपों के बाद असम में टीवी सीरियल ‘बेगम जान’ के प्रसारण पर दो माह के लिए रोक लगा दी गई है। गुवाहाटी पुलिस कमिश्नर मुन्ना प्रसाद गुप्ता ने कहा कि यह आदेश केबल टेलीविजन नेटवर्क (रेगुलेशन) एक्ट, 1995 के तहत दिया गया है।

उन्होंने कहा कि इस सीरियल को लेकर लगातार शिकायतें मिल रही थीं। मामले की जांच के लिए 10 सदस्यीय कमेटी बनाई गई थी। कमेटी ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि इस सीरियल को दिखाए जाने से शांति व्यवस्था को खतरा पैदा हो सकता था। इसी रिपोर्ट के आधार पर सीरियल के प्रसारण पर दो माह का प्रतिबंध लगाया गया है। उन्होंने चैनल को भी अपना पक्ष रखने की छूट दी है। कहा कि उसके द्वारा रखे गए पक्ष पर कमेटी गंभीरता से विचार करेगी।

इस बीच मीडिया से बातचीत करते हुए सीरियल में मुख्य भूमिका निभाने वालीं प्रीति कोंगोकोना ने कहा कि इसमें सांप्रदायिकता जैसा कुछ भी नहीं है। अभिनेत्री ने कहा कि लव जिहाद को बढ़ावा देने के आरोप निराधार हैं। इससे पहले, बेगम जान में लीड रोल निभाने वालीं प्रीति कोंगोकोना ने कहा था कि उन्हें ट्रोलर्स द्वारा जान से मारने की धमकी मिल रही हैं। लव-जिहाद को बढ़ावा देने वाले आरोपों को खारिज करते हुए प्रीति ने कहा कि सीरियल में केवल एक मुसीबत में फंसी महिला की एक मुस्लिम व्यक्ति द्वारा मदद किए जाने की कहानी को दर्शाया गया है।

बतादें कि ये शो जुलाई 2020 से ही ‘रंगोली टीवी’ पर प्रसारित हो रहा था और काफी विवादों में भी रहा था. असम के टीवी चैनल पर प्रसारित होने वाले इस सीरियल को लेकर हिन्दुओं में भारी गुस्सा था. हिन्दू संगठनों का आरोप था कि ये शो ‘लव जिहाद’ को बढ़ावा दे रहा है, इसीलिए इसे बैन होना चाहिए। जिसके बाद असम पुलिस ने केबल टेलीविजन रेगुलेशन एक्ट, 1995 के तहत किसी समुदाय की धार्मिक आस्थाओं को ठेस पहुंचाने के आरोप में इसके प्रसारण को प्रतिबंधित किया है । गुणजीत अधिकारी और ऑल असम ब्राह्मण यूथ काउंसिल, यूनाइटेड ट्रस्ट ऑफ असम व हिन्दू जागरण मंच ने इस शो को ‘लव जिहाद’ को बढ़ावा देने का आरोप लगाते हुए इसके खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी । सोशल मीडिया पर भी इन संगठनों ने सीरियल के खिलाफ अभियान चलाया हुआ है।

agniban

Next Post

कोरोना कहर, भारत में टूटा अमेरिका का रिकॉर्ड, एक दिन में 900 से अधिक लोगों की जान गई

Sun Aug 30 , 2020
नई दिल्‍ली । भारत में कोरोना के मामले कम होनी की जगह आए दिन बढ़ते ही जा रहे हैं। देश में पिछले 24 घंटे में कोरोना संक्रमण 78 हजार से ज्यादा मामले आए और 900 से ज्यादा लोगों की मौत हुई। महामारी से मौत के मामले में भारत दुनिया में […]

Know and join us

news.agniban.com

month wise news

January 2021
S M T W T F S
 12
3456789
10111213141516
17181920212223
24252627282930
31