उप्र: माधव सेवा आश्रम में बना 50 बेड का आइसोलेशन वार्ड

लखनऊ । भाऊराव देवरस सेवा न्यास की ओर से लखनऊ में पीजीआई के सामने संचालित माधव सेवा आश्रम 50 बेड का आइसोलेशन वार्ड बनाया गया है। यह आश्रम शुरू से मरीजों की सेवा कर रहा है लेकिन कोरोना महामारी को देखते हुए यहां पीजीआई और जिला प्रशासन के संयुक्त तत्वावधान में आइसोलेशन वार्ड शुरू किया गया है।

महामना शिक्षण संस्थान, महामना मिशन और माधव सेवा आश्रम के सक्रिय कार्यकर्ताओं की ओर से लखनऊ सहित आसपास के जिलों में सपेरों की बस्ती, मलिन बस्ती और कमजोर वर्ग के मोहल्लों को चिन्हित कर आवश्यक खाद्य सामग्री, भोजन व पानी पहुंचा जा रहा है। आरएसएस के स्वयंसेवक भी सेवा बस्तियों में दिन‑रात कार्य कर रहे हैं। अवध प्रान्त की 350 सेवा बस्ती में नित्य सामग्री वितरण जारी है। बहुत सारे लोग भी अपनी स्वेच्छा से आरएसएस के केन्द्रों पर खाद्य सामग्री पहुंचा रहे हैं। इस लॉकडाउन से सबसे ज्यादा परेशान वे लोग हैं जो दिहाड़ी पर मजदूरी करते थे। ऐसे लोगों को अब दो वक्त का खाना भी नहीं नसीब हो पा रहा है। ऐसे लोगों के लिए राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ खाने इत्यादि की व्यवस्था कर रहा है।

आरएसएस के अवध प्रान्त के सह प्रान्त कार्यवाह प्रशान्त भाटिया ने बताया कि संघ के सेवा विभाग की ओर से राजधानी लखनऊ में अलीगंज के सरस्वती विद्या मंदिर और बुद्धेश्वर के सियाराम जानकी गेस्ट हाउस में राहत शिविर लगाए गए हैं। इसके अलावा राजधानी लखनऊ में संघ की ओर से जरूरतरमंदों को राहत पैकेट भी दिए जा रहे हैं। इन राहत पैकेटों में 10 किलो आटा, 5 किलो चावल, 3 किलो दाल, 1 किलो नमक, 5 किलो आलू, आधा किलो सरसों का तेल और सब्जी मसाला शामिल है। ​प्रशांत भाटिया ने बताया कि देश के अलग-अलग हिस्सों में संघ के स्वयंसेवक ऐसे लोगों को चिह्नित कर रहे हैं जिन्हें किसी भी कारण से भोजन नहीं मिल पा रहा है। वे उन्हें दोनों समय का भोजन या अनाज के पैकेट उपलब्ध करा रहे हैं।

अवध प्रान्त के सेवा प्रमुख देवेन्द्र अस्थाना ने बताया कि इन राहत शिविरों में समाज के लोगों से इकट्ठा किए गए राशन, सब्जी, नमक, मसाला, तेल का पैकेट बनाकर जरूरतमंदों को दिया जा रहा है। लखनऊ के राहत शिविरों से हर दिन करीब 1200 से अधिक पैकेट समाज के लोगों तक पहुंचाए जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि आरएसएस की लखनऊ यूनिट ने हेल्पलाइन नंबर 6306802880, 8127404031 भी जारी किए हैं। इन पर कॉल करके राहत पैकेट मंगवाए जा सकते हैं। उन्होंने बताया कि इस कार्य में पूरी तरह से सरकारी निर्देशों का भी ध्यान रखा जा रहा है।

अस्थाना ने बताया ​कि उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में बीते छह दिनों से लगातार दिल्ली, हरियाणा से लौटकर यूपी-बिहार जा रहे लोगों को रास्ते में संघ खाने के पैकेट उपलब्ध करा रहा है। औरेया, इटावा, अकबरपुर, कानपुर, बाराबंकी, गोरखपुर, प्रयागराज, वाराणसी समेत कई जगहों पर ऐसे लोगों को खाने के पैकेट और पानी उपलब्ध कराए जा रहे हैं।

Shar­ing is car­ing!

agniban

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

टोक्यो ओलंपिक की नई तारीखों की घोषणा,23 जुलाई से शुरू होंगे खेल

Tue Mar 31 , 2020
नई दिल्ली। कोरोना वायरस महामारी की वजह से एक साल के लिए स्थगित किये गए टोक्यो ओलंपिक की नई तारीखों की घोषणा कर दी गई है। अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति (आईओसी) ने घोषणा की है कि ओलंपिक अब 23 जुलाई 2021 से 8 अगस्त 2021 तक आयोजित किया जाएगा। पहले इस […]